जयपुर।

केंद्रीय कृषि कानून के खिलाफ एनडीए से गठबंधन तोड़ने वाली राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी आगामी निकाय चुनाव और प्रदेश के 3 विधानसभा सीटों पर होने वाले उपचुनाव अकेले ही लड़ेगी। आरएलपी सुप्रीमो और सांसद हनुमान बेनीवाल ने इसका ऐलान किया। मतलब आने वाले चुनाव के परिणाम ही बताएंगे कि बेनीवाल उनकी पार्टी में कितना दमखम है।


प्रेस वार्ता के दौरान बेनीवाल ने यह भी कहा की नगरीय विकास मंत्री चाहे जो रहा हो केवल रातों-रात अपनी जेब भरने का काम ही किया ऐसे में आरएलपी जनता से जुड़े मुद्दों को लेकर चुनाव लड़ेगी। इन मुद्दों में शहरी विकास के साथ ही टोल फ्री करने का भी मुद्दा शामिल है।


वसुंधरा पर भी भड़के बेनीवाल, कांग्रेस को भी नहीं बक्शा-
हनुमान बेनीवाल ने अपनी प्रेस वार्ता के दौरान पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे और मुख्यमंत्री अशोक गहलोत पर भी निशाना साधा बेनीवाल ने कहा कि मीडिया के जरिए जानकारी हुई कि राजा ने भाजपा के समानांतर ही अपनी टीम खड़ी कर ली बेनीवाल के अनुसार आरएलपी ने एनडीए का साथ केंद्रीय कृषि कानून के खिलाफ हो कर छोड़ा था क्योंकि हम चाहते थे किसानों के हित में ही कानून वापस किया जाए बेनीवाल ने कहा भाजपा ही नहीं कांग्रेस ने भी यही हाल है वहां मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और सचिन पायलट का अलग-अलग खेमा बना हुआ है।
प्रेस वार्ता के दौरान हनुमान बेनीवाल के साथ ही विधायक और आरएलपी प्रदेश अध्यक्ष पुखराज कर और विधायक नारायण बेनीवाल भी मौजूद रहे।