जयपुर।

जयपुर के हवामहल विधानसभा क्षेत्र में आने वाले पॉन्ड्रिक उद्यान में पार्किंग बनाए जाने का अब मालवीय नगर से भाजपा विधायक कालीचरण सराफ ने विरोध किया है सराफ ने यह भी कहा की हरे भरे पेड़ों को हटाकर यहां पार्किंग बनाया जाना पर्यावरण के साथ ही जनता की सेहत के साथ भी खिलवाड़ है जिसे किसी भी कीमत पर बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।


दरअसल ब्रह्मपुरी इलाके में पॉन्ड्रिक पार्क में पार्किंग बनाए जाने के नाम पर हरियाली को उजाड़ा जा रहा है स्थानी लोगों में कुछ इसके विरोध में भी हैं और जब यही खबर मीडिया में सुर्खियों में बनी तो भाजपा के दिग्गज विधायक कालीचरण सराफ ने भी इसके विरोध में अपनी आवाज बुलंद की कालीचरण सराफ ने एक बयान जारी कर यह भी कहा कालीचरण सराफ ने कहा कि पार्क में बनाने के लिए वहां कई पेड़ काटे जाएंगे जिससे हरियाली भी समाप्त होगी और क्षेत्र के पर्यावरण को भी भारी नुकसान होगा कालीचरण सराफ के अनुसार प्रशासन के इस निर्णय से स्थानीय लोगों में भी रोष है और वह इसका विरोध दर्ज भी करवा चुके हैं। कालीचरण सराफ ने यह भी कहा कि 2 किलोमीटर की दूरी पर पहले से 15 से वहां क्षमता वाले राम निवास गार्डन में पार्किंग है लेकिन वहां 15% वाहन भी खड़े नहीं होते लकी चोगन स्टेडियम में 15 करो रुपए खर्च होने के बावजूद वहां बनी पार्किंग का उपयोग नहीं किया जाता और अब पार्किंग के नाम पर पर्यावरण को उजाड़ने का काम किया जा रहा है जो किसी भी दृष्टि से उचित नहीं है।


सुरेंद्र पारीक के राजनीतिक क्षेत्र में सराफ के दखल के क्या है मायने-
कालीचरण सराफ तो विधायक मालवीय नगर विधानसभा क्षेत्र से हैं लेकिन जिस घटना को लेकर वह विरोध कर रहे हैं वह क्षेत्र है हवा महल विधानसभा क्षेत्र जहां पर मौजूदा कांग्रेस विधायक डॉ महेश जोशी है जो सरकार ने सरकारी मुख्य सचेतक भी है और इसी विधानसभा क्षेत्र में भाजपा के पूर्व विधायक सुरेंद्र पारीक रहे हैं लेकिन पोंटिक उद्यान में पार्किंग का विरोध मुखरता से कालीचरण सराफ ने किया है जिसके कई सियासी मायने भी निकाले जा रहे हैं। चर्चा इस बात की भी है कालीचरण सराफ का राजनीति में सियासी कद इतना बड़ा है कि वे जयपुर के किसी भी विधानसभा क्षेत्र की घटना को लेकर अपना विरोध दर्ज करवा सकते हैं। वही हवा महल विधानसभा क्षेत्र में जो काम पूर्व विधायक सुरेंद्र पारीक को करना चाहिए उसे भी कालीचरण सराफ अंजाम दे रहे हैं जिसके पीछे हवामहल विधानसभा क्षेत्र के स्थानीय भाजपा कार्यकर्ताओं की मांग भी बताई जा रही है।