कोचिंग हब के रूप में मशहूर है बिरला का संसदीय क्षेत्र कोटा

जयपुर/कोटा

शैक्षणिक नगरी कोटा में कोचिंग संस्थानों को पुनः प्रारंभ करने के मांग का लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने भी पुरजोर समर्थन किया है। लोकसभा अध्यक्ष बिरला ने मंगलवार को राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को पत्र लिख नियम व प्रोटोकाॅल जल्द से जल्द तय कर कोटा में कोचिंग संस्थान प्रारंभ करने को कहा है।
लोकसभा अध्यक्ष बिरला ने मंगलवार को ई-मेल के जरिए मुख्यमंत्री गहलोत को भेजे पत्र में लिखा कि कोटा नगर शिक्षा की काशी है। यह देश का प्रमुख शैक्षणिक केंद्र है जहां प्रतिवर्ष बड़ी संख्या में बच्चे मेडिकल व इंजीनियरिंग की शीर्ष प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी के लिए आते हैं। देश के सभी प्रमुख कोचिंग संस्थानों के केंद्र में हैं। शहर के लोगों की अजीविका तथा स्थानीय अर्थव्यवस्था भी कोचिंग पर आधारित है।
बिरला ने कहा कि कोरोना के कारण पिछले कई महीनों से कोचिंग संस्थान बंद है जिसका विपरीत प्रभाव यहां के निवासियों, हाॅस्टल संचालकों तथा इस तंत्र से जुड़े अन्य वस्तु और सेवा आपूर्तिकर्ताओं की आर्थिक स्थिति पर पड़ रहा है।
लोकसभा अध्यक्ष ने कहा कि केंद्र सरकार ने 30 सितंबर को ही गाइडलाइन जारी कर कहा है कि राज्य सरकारें समुचित स्वास्थ्य संबंधी मार्गनिर्देशों तथा सोशल डिस्टेंसिंग की पालना करते हुए कोचिंग संस्थाओं को खोलने के आदेश दे सकती है। इस संबंध में केंद्रीय गृह मंत्रालय संपर्क करने पर उन्हें भी यही जानकारी दी गई है।
बिरला ने कहा कि जब देश में कोरोना का प्रभाव कम हुआ है, केंद्र सरकार के दिशा-निर्देशों को दृष्टिगत रखते हुए पंजाब, हरियाणा, असम, उत्तर प्रदेश और झारखंड समेत कई राज्यों ने कोचिंग संस्थान प्रारंभ कर दिए है। ऐसे में राज्य सरकार को भी आर्थिक परिदृश्य को ध्यान में रखते हुए नियम-प्रोटोकाॅल तय कर कोटा सहित सम्पूर्ण राजस्थान में कोचिंग संस्थान पुनः प्रारंभ करने की पहल करनी चाहिए।